महरूम थे ,सुने सवालो के जायज जवाब मिले न कुछ गुम से थे साये जो सड़को पे ढूढ़े मीलों तक मिले न राहे फिर मुड़ी और साथी एक साथी मिल गया।। #lovekushgupta

#lovekushgupta